Thursday, July 27 2017
BREAKING NEWS

पंजाब की राजनीति में खालिस्तान और भिंडरावाले का भूत जिन्दा करने की कोशिश

पंजाब की राजनीति में खालिस्तान और भिंडरावाले का भूत जिन्दा करने की कोशिश

पंजाब की राजनीति में खालिस्तान और भिंडरावाले का भूत जिन्दा करने की कोशिश

पंजाब की राजनीति में सिख शहीद बताकर उग्रवादी नेता जरनैल सिंह भिंडरावाले और उनके अलग खालिस्तान आंदोलन को नए सिरे से महिमा मंडित करने की कोशिशे बाकायदा शुरु की जा चुकी है.

इसके साथ ही पंजाब में कुछ जगहों पर खालिस्तान के लिए जनमत संग्रह कराने और भिंडरावाले को शहीद बताते हुए पोस्टर लगाए जाने की खबरे भी आ रही हैं.

उल्लेखनीय है कि कोई एक दशक बाद पंजाब में अकाली दल को सत्ता से बेदखल करके कांग्रेस के हाथों में हुकूमत की बागडोर अा चुकी है और माना जा रहा है कि स्वर्ण मंदिर के सहारे सिख वोटों का जबरदस्त ध्रुवीकरण करने के लिए खालिस्तान आंदोलन को फिर से जनमानस में जिन्दा करने की रणनीति बनाई गई है.

हालांकि राज्य के कांग्रेसी मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिन्दर सिंह ने राज्य की कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए इसे रोकने की अपीले की थी पर दमदमी टकसाल ने न सिर्फ स्वर्ण मंदिर में गुरुवार को शहीदी गैलरी बनाने की कारसेवा शुरु करवा दी जिसमे आपरेशन ब्लू स्टार में मारे गए भिंडरावाला और अन्य कथित खालिस्तान आंदोलनकारियों की तस्वीरें लगाई जाएंगी.

यह शहीद गैलरी हरमिन्दर साहब में बन रही है और कार सेवा के समय अकाल तख्त के जत्थेदार गुरुबचन सिंह और शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एजीपीसी) के अध्यक्ष किरपाल सिंह बदुंगर भी मौजूद थे.

पंजाब के स्वर्ण मंदिर और अन्य दूसरे सिख गुरुद्वारों का प्रबंधन देखने वाली एसजीपीसी ने इस गैलरी परियोजना को जून में मंजूरी किया था और इसमें जून 1984 में हुए ऑपरेशन ब्लूस्टार की तस्वीरें भी रखी जाएंगी.

About the Author

Related Posts

Leave a Reply

*

Powered By Indic IME