Monday, August 21 2017
BREAKING NEWS

दावे छोड़िए पहले यह तो जान लीजिए कि देश में कितने गांव है ?

दावे  छोड़िए पहले यह तो जान लीजिए कि देश में कितने गांव है ?

दावे छोड़िए पहले यह तो जान लीजिए कि देश में कितने गांव है ?

आजादी के बाद अभी भी सरकार यह नहीं बता सकती कि देश में कुल कितने गांव है क्योंकि ग्रामीण योजनाओं के लिए काम करने वाली केंद्र सरकार की तमाम एजेंसियों के आंकड़े देश में गावों की संख्या को अलग अलग बताते है.

मोटे तौर पर यह कहा जा सकता है कि देश में गांवो की संख्या छह लाख से दस लाख के बीच है और इनमें से मात्र कुछ हजार ही ऐसे गांव हैं लोग नहीं रहते यानि इन्हें छोड़कर बाकी के विकास की योजनाएं बनाना सरकार की जिम्मेदारी है.

अब जरा नजर डाले कि सरकार के ही विभाग किस तरह गांवों की संख्या को अलग अलग बताते चले आ रहे हैं.

पिछली 2011 की जनगणना के अनुसार देश में गावों की संख्या 649481 और इसे आधिकारिक तो माना जाना चाहिए पर अपनी ढपली अपना राग में मस्त सरकार के विभाग ऐसा नहीं करते जैसे मनरेगा मानती है कि देश मे दस लाख से ज्यदा ही गांव है जबकि पेयजल और स्वच्छता के लिए जिम्मेदार केंद्रीय मंत्रालय कहता है कि कुल 608662 गांव हैं.

इन सबके विपरीत स्वच्छ भारत अभियान मानता है कि देश में 605805 गांव हैं जबकि देश में राजस्व प्राप्ति का अंतिम छोर गांव ही हैं और वो आज से नही अंग्रेजों के जमाने से राजस्व की इकाइयां रहे हैं पर ये विसंगतियां इसलिए हैं कि भले ही कुछ लोग जगल के बीच या कहीं और बसकर नया गांव बना लें पर राजस्व विभाग उसे गांव तभी मानेगा जब जनगणना में उसकी गिनती करके उसे राजस्व गांव घोषित किया जाएगा.

अब एक नजर डाल ली जाए बड़े बड़े राज्यों में घपले में चल रहे गांवों पर तो उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य में यह संख्या 1129, राजस्थान में 1119, कर्नाटक में 1145, झारखंड में 1166 और छत्तीसगढ़ में 1583 है.

About the Author

Leave a Reply

*

Powered By Indic IME